Placeholder canvas

‘मनेर के लड्डू’ बड़े नेताओं से लेकर फिल्मी सितारे तक दीवाने

Bihari News

बिहार एक ऐसा राज्य है जो अपने पकवान और अपने मिठाई के लिए पूरी दुनिया में प्रसिद्ध हैं. आज हम ऐसी ही एक मिठाई की बात करने जा रहे जिसे बिहार के अलावा पूरी दुनिया के लोग इसका स्वाद चखना चाहते हैं. इस मिठाई के कई बड़े नेताओं से लेकर फिल्मी सितारे तक दीवाने हैं. इतना ही नही, जब भी कोई लोग बिहार की राजधानी पटना आते है तो इसके स्वाद को चखे बिना नही रहते. चाहे वह भारत रत्न पूर्व पीएम स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपयी रहे हो यह बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्ट आमिर खान. इस मिठाई की सुंगंध नेताओं को खूब भाति हैं. बिहार आने वाले अटल बिहारी बाजपेयी, चंद्रशेखर, बीपी सिंह समेत कई केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद, प्रमोद महाजन, स्व. सुषमा स्वराज, लालू प्रसाद यादव, नीतीश कुमार, स्व. रामविलास पासवान, रामकृपाल यादव समेत अन्य कई नेताओं के पांव इस मिठाई के स्वाद को लेने के लिए खुदखुद दुकानों तक पहुँच जाते हैं. इसके अलावा बॉलीवुड सितारे जैसे जितेंद्र, शत्रुघ्न सिन्हा, आमिर खान, रामायण तिवारी के साथ भोजपुरी फिल्म अभिनेता कुणाल, मनोज तिवारी, खेसारी लाल यादव, निरहुआ, अभिनेत्री कुमकुम पद्मा खन्ना, नीतू चंद्रा आदि ने भी इस मिठाई का स्वाद स्वयं यहां आकर लिया हैं. हम यहां बात कर रहे हैं मनेर के लड्डू की.

आप सभी ने शादी के लड्डू तो बहोत खाए होंगे, लेकिन अगर आपने पटना जिला का मनेर का लड्डू का स्वाद नही लिया है तो आपके पास केवल पछताने का ही एकमात्र विकल्प हैं. क्योंकि पटना के पास लगभग 30 किलोमीटर स्थित मनेर के लड्डू काफी मशहुर ही नहीं विश्वविख्यात है. अपनी मिठास और देशी घी की महक लिए मनेर के लड्डू की जायकों में अपनी खास पहचान है. लड्डू भारत की काफी प्रसिद्ध मिठाई है. लड्डू देखते ही लोगो के मुंह में पानी आ जाता है पर लड्डू जब मनेर का हो तो फिर क्या कहना. इसके लिए हरेक शब्द कम हैं आपको इसके लिए इसका स्वाद लेना होगा.

अगर हम मनेर के लड्डू के इतिहास की बात करे तो, दुनियाभर में इस लड्डू का इतिहास बेहद पुराना है. इतिहास के जानकारों का कहना है कि, पहली बार मुग़ल बादशाह शाह आलम अपने साथ दिल्ली से नुक्ती के लड्डूलेकर मनेर शरीफ पहुंचे थे. उनके द्वारा लाया गया लड्डू यहां के लोगों को काफी पसंद आया था. जिसके बाद शाह आलम दिल्ली से कारीगर लेकर यहां पहुंचे . इन कारीगरों ने यहां के स्थानीय लोगों को लड्डू बनाना सिखाया. उन्होंने बताया कि शाह आलम पहली बाद इमली के पत्ते से बने दोने में लड्डू लेकर पहुंचे थे. धीरेधीरे स्थानीय कारीगर लड्डू बनाने में निपुण हो गए और और आगे चलकर इसी लड्डू को मनेर का लड्डूकहा जाने लगा. आज मनेर में लगभग ऐसे 100 दुकाने हैं जहां लड्डू मिलते हैं. मनेर के लड्डू को बनाने के लिए शुद्ध घी, बेसन, चीनी व अन्य सामग्री का इस्तेमाल किया जाता हैं. बता दे कि मनेर के लड्डू को अमेरिका, इंग्लैंड, दुबई सहित कई अन्य देशों में यहां से सौगात के रूप में भेजा जाता हैं. वहीं अंग्रेजों ने मनेर के लड्डू का स्वाद चखकर इसे वर्ल्ड फेम लड्डू का करार देकर प्रमाणपत्र दिया था.

यह लड्डू खुद में स्वाद के साथ सेहत से जुड़े कई फायदे को भी समेट कर रखा हैं. आइये हम आपको बेसन से बने मनेर के लड्डूसे जुड़ी कुछ फायदे की बात बताते हैं.

1.) मनेर का लड्डू बेसन का बना होता है और बेसन में गेंहू की तुलना में अधिक वसा होता है और साथ ही प्रोटीन की मात्रा भी अधिक होती है. जटिल कार्बोहाईड्रेट में समृद्ध और कम ग्लायिसेमिक सूचकांक के साथ, बेसन मधुमेह रोगियों के लिए भी अच्छा हैं. बेसन हड्डी के लाल रक्त कोशिकाओं और सफ़ेद रक्त कोशिकाओं और सफ़ेद कोशिकाओं के गुणन के लिए महत्वपूर्ण है.

2.)इस लड्डू में बादाम का भी इस्तेमाल किया जाता है . बता दे कि बादाम में विटामिन बी 1, बिटामिन बी 3, और फोलेट से भरपूर होते हैं, जो दिमाग के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है. यह कोलेस्ट्रोल को भी संतुलित करता हैं. बादाम का ग्लायिसेमिक इंडेक्स कम होता है और यह मधुमेह रोगियों के लिए अच्छा माना जाता हैं.

3.) मनेर के लड्डू को शुद्ध घी में बनाया जाता है और घी में विटामिन पाया जाता है, जिनमें सभी वसा में घुलनशील होते हैं. इसमें उपस्थित सभी विटामिन शारीर से मुक्त कणों को हटाने और हमारी कोशिकाओं की रक्षा करने के साथसाथ त्वचा के स्वास्थ्य और चमक को बनाये रखने में मददत करता हैं. घी में माध्यम श्रृंखला फैटी एसिड होते है जो वजन घटाने में सहायता करता हैं.

4.) लड्डू में फाइबर की मात्र अधिक होती है जिससे ह्रदय रोग का जोखिम कम हो जाता हैं. फ्ह्फग्न्ब

Leave a Comment