skip to content

कप्तान रोहित शर्मा ने बताया WTC फाइनल जीतने का प्लान

Bihari News

ऑस्ट्रेलिया और भारत वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप(WTC 2023) के लिए क्वालीफाई कर चुकी है. 7 जून से लंदन के द ओवल में WTC 2023 फाइनल खेली जाएगी और हमें नई विश्व टेस्ट चैंपियन टीम मिल जाएगी. भारतीय टीम लगातार दूसरी बार वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप फाइनल में पहुंची है और इस बार टीम से जीत की पूरी उम्मीद है. पिछली बार भारतीय टीम को फाइनल में न्यूजीलैंड के हाथों हार का सामना करना पड़ा था. बात तैयारियों की करें तो टीम इंडिया के कप्तान Rohit Sharma ने बड़ा बयान दिया है. उनके बयान से लग रहा है कि वो इस बार तैयारियों में कोई कोताही बरतने के मूड में नहीं हैं. सोमवार को कप्तान रोहित शर्मा ने कहा कि जिन भारतीय खिलाड़ियों की इंडियन प्रीमियर लीग(IPL) टीम प्लेऑफ्स में जगह नहीं बना पाएंगी वे खिलाड़ी ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप(WTC) फाइनल से पहले लंदन में दो हफ्ते के अनुकूलन शिविर में हिस्सा ले सकते हैं. गौरतलब है कि WTC 2023 फाइनल IPL के ठीक बाद जून में खेला जाएगा. IPL 2023 का फाइनल 29 मई को है जबकि WTC फाइनल 7 जून से शुरू होगा.

इस बार आईपीएल अपने मूल रूप में खेला जाएगा, जिससे खिलाड़ियों को काफी यात्रा करनी होगी. भारत के मौजूदा नियमित टेस्ट खिलाड़ियों में केवल Cheteshwar Pujara ही सिर्फ आईपीएल का हिस्सा नहीं हैं. रोहित शर्मा ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खत्म हुए टेस्ट सीरीज के बाद प्रेस कॉनफ्रेंस में PTI के एक सवाल के जवाब में कहा, “यह हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है. हम उन सभी खिलाड़ियों के साथ लगातार संपर्क में रहेंगे जो उस फाइनल में खेलने जा रहे हैं और उनके कार्यभार की निगरानी करेंगे तथा देखेंगे कि उनके साथ क्या हो रहा है.”

रोहित ने आगे कहा, “21 मई के आसपास छह टीमें होंगी जो संभवतः आईपीएल प्लेऑफ्स की दौड़ से बाहर हो जाएंगी और इसलिए जो भी खिलाड़ी उपलब्ध होंगे हम कोशिश करेंगे कि वे जल्द से जल्द ब्रिटेन पहुंच जाएं.”
गौरतलब है कि तीन मुख्य तेज गेंदबाजों मोहम्मद सिराज(RCB), मोहम्मद शमी(गुजरात टाइटन्स), उमेश यादव(KKR) अपनी फ्रेंचाइजी के लिए नियमित रूप से खेलेंगे ही, 14 में से 12 मैच तो निश्चित रूप से, ऐसे में उनके वर्कलोड पर नजर रखना होगा.

रोहित शर्मा ने कहा, “हम सभी तेज गेंदबाजों को कुछ (लाल) ड्यूक गेंदें भेज रहे हैं. उन्हें इससे गेंदबाजी करने का समय मिलता है लेकिन यह सब व्यक्तिगत खिलाड़ियों पर निर्भर करता है.”
आपको तो पता ही होगा कि भारत में टेस्ट मैच एसजी टेस्ट, ऑस्ट्रेलिया में कूकाबूरा से जबकि इंग्लैंड में ड्यूक गेंदों से खेले जाते हैं. देखने वाली बात होगी कि शमी, उमेश और सिराज व्यस्त कार्यक्रम के बीच कितना समय निकाल पाते हैं. भारतीय टेस्ट टीम के अधिकतर खिलाड़ियों के लिए इंग्लैंड कोई नई जगह नहीं है क्योंकि वे सभी वहां कई सीरीज खेल चुके हैं और उनमें से कुछ ने तो काउंटी क्रिकेट भी खेला है.

रोहित शर्मा ने कहा, “जो लोग फाइनल का हिस्सा होंगे वे ऐसे खिलाड़ी नहीं हैं जो इंग्लैंड में नहीं खेले हैं. हो सकता है कि एक-दो खिलाड़ी ऐसे हों लेकिन बाकी हम सभी दुनिया के उस हिस्से में खेले हैं. मुझे नहीं लगता यह बहुत बड़ी समस्या होगी.”
रोहित ने आगे कहा, “फाइनल में उनसे(ऑस्ट्रेलिया) खेलने की बात करें तो यह दोनों टीमों के लिए तटस्थ स्थान के साथ एक अलग गेंद का मुकाबला होगा. दोनों टीमों ने दुनिया के उस हिस्से में काफी क्रिकेट खेली है और मैं यह नहीं कहूंगा कि यह दोनों टीमों के लिए नई परिस्थितियों होंगी, लेकिन हां यह भारत में भारत या ऑस्ट्रेलिया में ऑस्ट्रेलिया को खेलने जैसा नहीं होने वाला. मुझे यकीन है कि दोनों टीमें इसके लिए तैयारी करेंगी.”

Leave a Comment