skip to content

वनडे वर्ल्ड कप इतिहास के 10 सबसे बड़े उलटफेर वाले मैच

shubham kumar

वनडे वर्ल्ड कप दो हजार तेइस के तेरहवें मैच में अफगानिस्तान ने गत विजेता इंग्लैंड को हराकर बड़ा उलटफेर किया है, इस मुकाबले में अफगानिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए दो सौ चौरासी रन बनाए थे इसके जवाब ने इंग्लैंड की टीम दो सौ पंद्रह रन ही बना सकी, अफगानिस्तान ने यह मुकाबला उनहतर रनों से जीत लिया, वहीं अफगानिस्तान की दो हजार पंद्रह वनडे विश्व कप के बाद यह पहली जीत भी है और इंग्लैंड की इस हार से सेमीफाइनल के लिए क्वालिफाई करने की उम्मीदों को झटका जरुर लगा होगा, इंग्लैंड की टीम अब सेमीफाइनल में तभी जा सकती है जब वो अपने बाकि बचे छे मैच जितने में कामयाब होगी. वनडे वर्ल्ड कप में पहली बार नहीं है जब किसी छोटी टीम ने बड़ी टीम को धूल चटाई हो, विश्व कप में ऐसा कारनामा कई बार हो चूका है, तो चलिए आज हम आपको बताने वाले हैं वनडे वर्ल्ड कप इतिहास के उस दस मैचों के बारे में जहां बड़ा बड़ा उलटफेर साबित हुआ था.

जिम्बाब्बे बनाम आस्ट्रेलिया (1983)

सबसे पहला उलटफेर उन्नीस सौ तिरासी के वर्ल्ड कप में हुआ था, नौ जून उन्नीस सौ तिरासी को वर्ल्ड कप के तीसरे मैच में आस्ट्रेलिया का सामना जिम्बाब्वे से था, जहां जिम्बाब्बे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए साठ ओवर में डंकन फ्लेचर के उनहतर रनों की बदौलत दो सौ उनतालीस रन बनाए थे, इसके जवाब में आस्ट्रेलिया की टीम दो सौ छबीस रन ही बना सकी थी, इस तरह वनडे वर्ल्ड कप में जिम्बाब्बे ने पहला उलटफेर करते हुए तेरह रन से आस्ट्रेलिया को हराया था, वहीं इस मैच में डंकन फ्लेचर ने अर्धशतक लगाया ही था और गेंदबाजी में भी उन्होंने ग्यारह ओवर में बयालीस रन देकर चार विकेट लिए थे.

कीनिया बनाम वेस्टइंडीज (1996)

वनडे विश्व कप का दूसरा उलटफेर उन्नीस सौ छेयान्वें के विश्व कप में कीनिया की टीम ने वेस्टइंडीज के खिलाफ किया था, यह वनडे विश्व कप का सबसे बड़ा उलटफेर में से एक माना जाता है, इस मैच में कीनिया की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मगज एक सौ छेयासठ रन ही बना सकी थी, इतने कम स्कोर को देखकर लग रहा था की वेस्टइंडीज यह मुकाबला आसानी से जीत जाएगी लेकिन जिम्बाब्बे के गेंदबाज maurrice odoyo और rajab ali को यह मंजूर नहीं था, इन दोनों गेंदबाजों ने इस मुकाबले में तीनतीन विकेट अपने नाम किए थे और वेस्टइंडीज को मगज तिरान्वें के स्कोर पर ढेर कर दिए थे, इस तरह जिम्बाब्बे ने यह मुकाबला तिहतर रनों से अपने नाम किया था.

भारत बनाम जिम्बाब्बे (1999)

वनडे विश्व कप में भारत के खिलाफ भी जिम्बाब्बे की टीम ने उन्नीस सौ निनान्वें के विश्व कप में उलटफेर किया था, ग्रुप स्टेज ए में जिम्बाब्बे की टीम सबसे कमजोर टीम मानी जा रही थी, लेकिन उन्नीस सौ निनान्वें के विश्व कप में जिम्बाब्बे ने पांच में से तीन मैच जीता था, जिम्बाब्बे ने इस साल भारत, साउथ अफ्रीका और कीनिया जैसी टीमों को हराया था. उन्नीस मई उन्नीस सौ निनान्वें को खेले गए विश्व कप के आठवें मैच में जिम्बाब्बे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए भारत को दो सौ बावन रन का लक्ष्य दिया था, लेकिन भारत इस मुकाबले में दो सौ उन्चास रन ही बना सकी थी और जिम्बाब्बे ने यह मैच तीन रन से जीता था, इस मैच में भारत की हार का एक और बड़ा कारण था कि भारत ने इस मैच में इकावन रन एक्स्ट्रा दिए थे, वहीं जिम्बाब्बे की टीम ने उनतालीस रन एक्स्ट्रा दिए थे.

जिम्बाब्बे बनाम साउथ अफ्रीका (1999)

उन्नीस सौ निनान्वें के वनडे विश्व कप में जिम्बाब्बे की टीम ने साउथ अफ्रीका को भी धूल चटाई थी, उनतीस मई उन्नीस सौ निनान्वें को खेले गए विश्व कप के छबीसवें मैच में जिम्बाब्बे ने पहले बल्लेबाजी करते हुए साउथ अफ्रीका को दो सौ तेतीस रन का लक्ष्य दिया था, जिसके जवाब में साउथ अफ्रीका की टीम एक सौ पचासी रन ही बना पाई थी और जिम्बाब्बे ने यह मुकाबला अड़तालीस रन से अपने नाम किया था, इस मैच में जिम्बाब्बे के खिलाड़ी नील जॅानसन ने बल्लेबाजी और गेंदबाजी दोनों में कमाल का प्रदर्शन किए थे, इन्होंने बल्लेबाजी में जहां छेहतर रन बनाए थे वहीं गेंदबाजी में भी इन्होंने सताईस रन देकर तीन विकेट लिए थे.

बांग्लादेश बनाम पाकिस्तान (1999)

वनडे विश्व कप में अगला उलटफेर बांग्लादेश की टीम ने पाकिस्तान के खिलाफ उन्नीस सौ निनान्वें के विश्व कप में किया था, पहली बार विश्व कप खेल रही बांग्लादेश की टीम ने उन्नीस सौ निनान्वें के विश्व कप में डिफेंडिंग चैम्पियन पाकिस्तान को बासठ रन से हराया था, विश्व कप के उन्तीसवें मैच में बांग्लादेश ने पहले बल्लेबाजी करते दो सौ तेइस रन बनाए थे, जिसके जवाब में पाकिस्तान की टीम एक सौ इकसठ रन ही बना पाई थी.

कीनिया बनाम श्रीलंका (2003)

वनडे विश्व कप में एक और बड़ा उलटफेर दो हजार तीन के विश्व कप में हुआ था, चोबीस फरवरी दो हजार तीन को खेले गए विश्व कप के छबीसवें मैच में कीनिया की टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए श्रीलंका को दो सौ दस रन का लक्ष्य दिया था, जिसके जवाब में श्रीलंका एक सौ संतावन रन ही बना सकी थी, इस मैच के man of the match रहे कीनिया के खिलाड़ी कॅालिन्स ओबुया ने बल्लेबाजी में नाबाद तेरह रन और गेंदबाजी में दस ओवर में चोबीस रन देकर पांच विकेट लिए थे वहीं इन्होंने फील्डिंग में दो कैच भी लिए थे.

भारत बनाम बांग्लादेश (2007)

वनडे विश्व कप में अगला उलटफेर बांग्लादेश की टीम ने दो हजार सात में भारत के खिलाफ किया था, दो हजार सात विश्व कप के आठवें मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए एक सौ इकान्वें रन बनाए थे, जहां बांग्लादेश की टीम ने यह लक्ष्य पांच विकेट खोकर हासिल कर लिया था, इस मैच में बांग्लादेश के मशरफे मोर्तजा ने अड़तीस रन देकर चार विकेट लिए थे और man of the match बने थे.

पाकिस्तान बनाम आयरलैंड (2007)

दो हजार सात के विश्व कप में ही एक और बड़ा उलटफेर हुए थे, विश्व कप एक नौवें मैच में पाकिस्तान का सामना आयरलैंड से हुआ था, जहां पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी करते हुए मात्र एक सौ बतीस रन ही बना सकी थी और आयरलैंड की टीम ने यह लक्ष्य सात विकेट खोकर हासिल कर लिया था, इस मैच में आयरलैंड ने उनतीस एक्स्ट्रा रन भी दिए थे, फिर भी पाकिस्तान की टीम एक सौ बतीस रन ही बना सकी थी.

आयरलैंड बनाम इंग्लैंड (2011)

इसी तरह दो हजार ग्यारह के विश्व कप में बड़ा उलटफेर हुआ था जहां आयरलैंड की टीम ने इंग्लैंड को तीन विकेट से हराया था और दो हजार पंद्रह में आयरलैंड की टीम ने वेस्टइंडीज को हराया था, वेस्टइंडीज ने इस मैच में तीन सौ पांच रनों का लक्ष्य दिया था जहां आयरलैंड ने चार विकेट से मुकाबले को अपने नाम किया था.

ये थे वनडे वर्ल्ड कप इतिहास के दस सबसे बड़े उलटफेर वाले मैच आपको क्या लगता है दो हजार तेइस के विश्व कप में और भी बड़ा उलटफेर देखने को मिल सकता है. हमें कमेंट कर जरुर बताएं. धन्यवाद.

Leave a Comment