Placeholder canvas

मैट्रिक और इंटर छात्रों के लिए जरूरी खबर, इसके बिना परीक्षा में नहीं मिलेगी एंट्री

Bihari News

मैट्रिक और इंटर परीक्षा को लेकर बिहार बोर्ड के नाम कई कृतिमान स्थापित है. जैसे कोरोना काल के दौरन पूरे देश में सबसे पहले परीक्षा करवाना और उसके परीणाम की घोषणा करना. इसके साथ ही बिहार बोर्ड मैट्रिक इंटर की परीक्षा के दौराना कदाचार को लेकर भी पूरे देश में बदनाम रहा है. लेकिन पिछले कुछ साल में प्रदेश में कदाचार मुक्त परीक्षा की बात बोर्ड की तरफ से कही जाती रही है. परीक्षा के दौरान किसी तरह की कोई परेशानी न हो इसको ध्यान में रखते हुए बिहार बोर्ड ने साल 2023 में होने वाले वार्षिक परीक्षा को लेकर एक यूनिक आईडी जारी कर दिया है. जिससे अब परीक्षार्थी अपने यूनिक आईडी से परीक्षा संबंधित जानकारी प्राप्त कर सकेंगे. इसके लिए बिहार बोर्ड ने इंटर और मैट्रिक के लगभग 30 लाख छात्र-छात्राओं के यह यूनिक नंबर जारी किया गया है.

बता दें कि यह जो नंबर होगा वह 13 अंको का होगा, जोकि छात्र के पंजीयन संख्या के साथ बोर्ड जारी करेगा. इसका मतलब यह हुआ कि जब छात्र का परीक्षा फॉर्म भरा जाएगा उसी के साथ ही पंजीयन संख्या के साथ ही यूनिक आईडी भी भरा जाएगा. जिसके कि लिए बोर्ड ने एक अलग से कॉलम भी दिया है. आपको बता दें कि छात्र जब मैट्रिक का फॉर्म भरेंगे तो उस समय उन्हें रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ ही यूनिक आईडी नंबर भी भरना होगा. साथ ही यह भी बताया गया है कि जो छात्र यूनिक आईडी नंबर नहीं भरेंगे उनका परीक्षा फॉर्म रद्द कर दिया जाएगा.

आपको बता दें कि इससे पहले फॉर्म भरने का जो तरीका था उसमें परीक्षार्थी को पंजीयन संख्या देना होता था. और परीक्षा फॉर्म को भरने से पहले उनका रजिस्ट्रेसन करवाया जाता था. और यही रजिस्ट्रेशन नंबर उनके परीक्षा फॉर्म में भरा जाता था. जिससे इस बात की पुष्टि होती थी कि यह छात्र किस स्कूल और कौन से जिले का है. अब इसमें फेरबदल किया गया है यानी कि अब रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ ही आपको यूनिक नंबर भी देना होगा. जोकि अब छात्रों की पहचान करवाएगी कि यह छात्र या छात्रा मैट्रिक या फिर इंटर के परीक्षार्थी हैं. इस यूनिक नंबर से जिले के बारे में जानकारी नहीं मिल पाएगी.

student

इस बार के मैट्रिक फॉर्म में परीक्षार्थी को ईमेल और मोबाइल नंबर भी देना है. जिससे की छात्र को सभी जानकारी ईमेल के माध्यम से मिलता रहे. साथ ही बोर्ड ने छात्रों से उनका आधार नंबर भी मांगा है. साथ ही यह भी कहा है कि अगर आधर नंबर नहीं है तो वे फॉर्म भरते समय यह बताएं कि उनके पास आधार नंबर नहीं है. साल 2023 में होने वाले मैट्रिक इंटर की परीक्षा के मार्गशीट पर जिसे हम अंकपत्र भी कहते हैं कि इस पर यूनिक नंबर लिखा होता है. यह इसीलिए दिया जा रहा है ताकि कोई इसका गलत इस्तेमाल नहीं कर सके.

Leave a Comment