skip to content

कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर भारत में अलर्ट, PM ने बुलाई बैठक

Bihari News

चीन में कोरोना एक बार फिर से अपने पुराने रंग में दिखने लगा है. चीन में एक बार फिर से कोरोना के मामलों में जबरदस्त बढ़ोतरी देखी जा रही है. इन दिनों सोशल मीडिया में जिस तरह की तस्वीरें वायरल हो रही है उससे यही अंदाजा लगाया जा रहा है कि चीन में कोरोना एक बार फिर से बेकाबू हो गया है. चीन से आ रही इस तरह की तस्वीरों को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार भी अलर्ट मोड पर आ गया है.

देश में कोरोना की स्थिति को ध्यान में रखते हुए पीएम मोदी ने आज मीटिंग बुलाई है. बताया जा रहा है कि इस बैठक में कोरोना के BF.7 वैरिएंट को लेकर बात होगी. साथ ही यह भी कहा जा रहाहै कि उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, दिल्ली और उत्तराखंड में इस नए वैरिएंट को लेकर बैठक बुलाई गई है. कहा जा रहा है कि पीएम नरेंद्र मोदी की मीटिंग में बूस्टर डोज में तेजी लाने और मास्क लगाने जैसी पाबंदियों को फिर से लागू करने पर विचार हो सकता है. हालांकि लॉकडाउन या फिर बाजार आदि बंद करने जैसी पाबंदियां लगने की संभावना नहीं है. लेकिन बड़े स्तर पर लोगों के जुटान वाले कार्यक्रमों के लिए गाइडलाइंस तय की जा सकती हैं. कोरोना के बीएफ.7 वैरिएंट के चलते चीन में हाहाकार मचा है. बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हो रहे हैं और मौतें भी बढ़ी हैं. इसके अलावा अमेरिका, जापान, इटली और फ्रांस जैसे देशों की हालत भी खराब है. यही वजह है कि भारत में भी टेंशन बढ़ गई है.

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया के नेतृत्व में पिछले दिनों हुई बैठक में नीति आयोग के हेल्थ कमेटी के सदस्य वीके पॉल ने कहा कि कुछ नियमों का पालन करना अब जरूरी है. उन्होंने कहा कि अब तक देश में 27 से 28 फीसदी लोगों को ही कोरोना का बूस्टर टीका लगा है. इस आंकड़े को बढ़ाने की जरूरत है. इसके अलावा उन्होंने भीड़भाड़ से बचने और मास्क लगाने की भी सलाह दी है.

मीडिया में चल रही खबरों की माने तो विश्व के कुछ देश ऐसे हैं जहां कोरोना के मामलों में तेजी से बढ़ोतरी देखी जा रही है. इन देशों में चीन, अमेरिका, जापान के साथ ही कई अन्य देश हैं जहां पर एक बार फिर से कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी देखी जा रही है. बता दें कि पिछले एक सप्ताह में जापान, दक्षिण कोरिया, फ्रांस, ब्राजील, अमेरिका जैसे देशों में लाखों केस सामने आए हैं. पिछले दिनों जिस तरह से कोरोना के मामलों में बढ़ोतरी हुई है उसके बाद से विश्व एक बार फिर से पुराने दिनों को याद करने लगा है.

अगर हम जापान, अमेरिका, दक्षिण कोरिया के पिछले सप्ताह के कोरोना अपडेट की स्थिति को ही देख लें तो जापान में पिछले एक हप्ते में दस लाख से अधिक लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं. मीडिया में चल रही खबरों की माने तो इस हफ्ते की तुलना में नए मरीजों की संख्या में 18 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है. बताया जा रहा है कि दस लाख की जनसंख्या में जांच के बाद 8 हजार से ज्यादा मामलों की पुष्टि हो रही है. अब अगर हम बात कर लें दक्षिण कोरिया की तो पिछले एक सप्ताह में 4 लाख से अधिक मामले दर्ज किये गए हैं अगर हम प्रतिशत के हिसाब से बात करें तो तकरीबन 7 फिसदी की बढ़ोतरी की गई है. इस दौरान दक्षिण कोरिया में 362 लोगों की जान भी चली गई है.

वहीं अगर हम फ्रांस की बात करें तो फ्रांस कोरोना से संक्रमित मरीजों की संख्या में तीसरे स्थान पर है. यहां पिछले एक सप्ताह में तीन लाख से अधिक लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं. हालांकि इस दौरान 739 लोगों की जान भी चली गई है. हालांकि फ्रांस में पिछले साल के आंकड़ों को देखेंगे तो वर्तमान में 16 फिसदी कम है. हालांकि फ्रांस में नए केस मिलने के बाद से लोगों के बीच में हड़कंप मचा हुआ है.

कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच में ब्राजील में भी कोरोना के मामलों में 20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है. बता दें कि ब्राजील में पिछले एक सप्ताह में 2 लाख से अधिक मामले दर्ज किए गए हैं. ब्राजील में दस लाख में 1293 मरीज सक्रमित पाए जा रहे हैं. हालांकि इस दौरान कोरोना से 1 हजार लोगों की जान भी चली गई है. इधर अगर हम अमेरिका की बात करें तो पिछले सात दिनों में कोरोना के मामलों में भले ही 41 प्रतिशत की गिरावट आई है लेकिन इसके बाद भी कोरोना के मामले में 2 लाख से ऊपर हैं. यहां प्रति दस लाख पर 730 मामले सामने आ रहे हैं. हालांकि अमेरिका में कोरोना से होने वाली मौत का आंकड़ा सबसे ज्यादा है यहां पिछले सात दिनों में 1497 लोगों की जान चली गई है.

Leave a Comment