skip to content

नए साल में यहाँ होगा लालू परिवार

Bihari News

 राष्ट्रिय जनता दल के सुप्रीमो लालू यादव किडनी ट्रांसप्लांट के बाद अभी सिंगापुर में हैं और डॉक्टर्स की निगरानी में रह रहे हैं. अपने स्वास्थ को लेकर लालू यादव नए साल में भी सिंगापूर में ही होंगे. इस पर लालू को नये साल का तोहफा देने के लिए लालू परिवार से कई लोग सिंगापूर जाने की तैयारी में हैं. आपको बताते चलें की लालू यादव कई बीमारियों से जूझ रहे थे. इस पर डॉक्टरों ने किडनी ट्रांसप्लांट की बात कही थी. लालू की बेटी रोहिणी आचार्य अपने पिता को किडनी देने के लिए तैयार हो गयी थी. लालू यादव का किडनी ट्रांसप्लांट और अन्य मेडिकल ट्रीटमेंट सिंगापूर से ही चल रहा था. दरअसल लालू की बेटी रोहिणी सिंगापूर में ही रहती हैं. बीते कुछ ही दिनों पहले रोहिणी आचार्य द्वारा किडनी दान किये जाने के बाद रोहिणी ने ट्वीट कर लालू के तबियत की जानकारी दी. उन्होंने बताया था की उनके पिता जी की तबियत थोड़ी नासाज बनी हुई है और उम्मीद है की वे जल्द ही ठीक हो जायेंगे.

दरअसल किडनी ट्रांसप्लांट के सफल ऑपरेशन के बाद रोहिणी को अस्पताल से तुरंत ही छुट्टी मिल गयी थी लेकिन लालू को अभी भी अस्पताल में ही डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है. ऑपरेशन के समय लालू यादव के बेटे तेजस्वी यादव भी सिंगापूर में ही थे और उन्होंने भी लालू के शुभचिंतकों को उनके हेल्थ की खबर दी थी. ऑपरेशन के बाद उन्होंने बताया था की किडनी ट्रांसप्लांट सफल रहा और नई किडनी अच्छे से काम कर रही. साथ ही साथ उनकी बहन रोहिणी आचार्य भी अब रिकवर कर रही. सफल ऑपरेशन के बाद ही तेजस्वी यादव अपने घर बिहार की ओर रवाना हो गये थे.

लालू यादव के कई महीनो तक बीमार रहने के कारण पूरा लालू परिवार परेशान था. तबियत ख़राब होने की वजह से पटना फिर दिल्ली और अब सिंगापूर तक लालू परिवार की भागमभाग हो गयी थी. किडनी ट्रांसप्लांट के वक्त भी लालू के परिवार और उनके कई करीबी लोग भी उनसे मिलने सिंगापूर गये थे. मिली खबर के अनुसार आने वाले नये साल में लालू परिवार से तेजप्रताप, राजश्री और तेजस्वी यादव सिंगापूर की लिए निकलने वाले हैं. आपको बता दें की सिंगापूर से लालू यादव जल्द ही घर की ओर वापसी कर सकते हैं. जैसे ही उनके स्वास्थ में सुधार होना शुरू होगा वैसे ही उन्हें सिंगापूर से वापस लाया जायेगा और उनके स्वास्थ में जल्द ही सुधार आने की पूरी उम्मीद जताई जा रही. अभी तक के मिले खबर के अनुसार लालू यादव सिंगापूर से खर्मास महीने के बाद वापस आ सकते हैं.

आइये अब इस चर्चा के बीच हम बात करते हैं रोहिणी आचार्य की. पिता को किडनी ट्रांसप्लांट करने के बाद रोहिणी को अब लोग डोनर बेटी के नाम से भी जानने लगे हैं. दरअसल रोहिणी सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. अक्सर रोहिणी अपने सोशल अकाउंट पर अपने पिता के साथ खिंची गयी तस्वीरों को साझा करती हैं. आपको बता दें की रोहिणी बचपन से ही पढाई में काफी होशियार थी. उन्होंने अपनी स्कूलिंग पटना से पूरी की और आगे चल कर जमशेदपुर के एक प्रतिष्ठित एमजीएम कॉलेज से एमबीबीएस की डिग्री हासिल की. क्योकि रोहिणी मेडिकल प्रैक्टिस करना चाहती थी. कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कॉलेज में एडमिशन उन्होंने मुख्यमंत्री कोटा के तहत लिया था. वर्ष 2002 में एमबीबीएस की पढाई के दौरान रोहिणी की शादी समरेश सिंह के साथ हुई. रोहिणी के पति समरेश सिंह एक सॉफ्टवेर इंजिनियर हैं. शादी के कई सालों के बाद रोहिणी अमेरिका में भी रही थी. लेकिन अब वो अपने परिवार के साथ सिंगापुर में रहती हैं. आज के इस लेख में इतना ही उम्मीद करते हैं आपको आज का यह लेख पसंद आया होगा.

Leave a Comment