Placeholder canvas

दुबई के आसमान में नजर आई कार, अब ट्रैफिक की झंझट होगी खत्म

Bihari News

आप सभी ट्रैफिक में तो कई बार फंसते होंगे, लेकिन क्या आपने उस दौरान कभी सोचा है कि काश हम उड़ पातें, तो ये ट्रैफिक में फंसने का कोई झंझट ही न होता. हमें जहां भी जाना होता तो आसमन के रास्ते आसानी से पहुँच जाते. न तो हमारा ज्यादा टाइम लगता और न हमें ट्रैफिक में फंसे-फंसे बोरियत होती. उस समय आपके मन में ये भी आता होगा कि अगर इस टैक्सी में पहिये के साथ-साथ पंखे भी होते तो यह हमें उड़ा ले जाती. आपने इस तरह के न जाने कितने सपने देखे होंगे लेकिन दुबई ने यह सच कर दिखाया है. जी हाँ, दुबई ने आसमान में उड़ने वाली टैक्सी का निर्माण किया है. जिसे देख कर लोगों को उनकी आँखों पर भरोसा ही नही हुआ. बता दे कि इस टैक्सी की टेस्टिंग का वीडियो सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म ट्विटर पर पोस्ट किया गया हैं.आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इस टैक्सी का परिक्षण चीनी फ़र्म Xpeng के द्वारा किया गया हैं. X2 फ्लाइंग कार ने अपनी पहली उड़ान से सभी को हैरान कर के रख दिया. जिन भी लोगों ने इस कार की उड़ान को देखा वे देखते ही रह गए. कई लोगों का यह भी मानना है कि ये ऑटोमोबाइल के क्षेत्र की काफी बड़ी उपलब्धि हैं. बता दे कि कंपनी ने यह टेस्ट दुबई में किया हैं. इस टेस्ट के दौरान उड़ने वाली इस कार में लोगों को बैठाया गया. दुबई में इस फ्लाइंग कार ने अपना टेस्ट पास कर लिया और उसमें बैठे सभी यात्रियों को सही सलामत रखा. आपको बता दे कि इस स्पेशल कार में केवल 2 सीट हैं. यह एक वर्टीकल टेक-ऑफ और लैंडिंग विमान अहि, जो भविष्य की तकनीक को देखते हुए बनाया गया है.अगर इस फ्लाइंग कार की खासियत की बात करें तो , इसमें कूल 8 प्रोपेलर दिए गए है, जो इसके चारो कोनों में 2-2 के सेट में मौजूद है. वहीं अगर इस कार के रफ़्तार की बात की जाए तो, Xpeng X2 130 किलोमीटर प्रति घंटे से आसमान में उड़ सकती है. बता दे कि दुबई में टेस्टिंग के दौरान इस फ्लाइंग कार को 90 घंटों तक आसमान में उड़ाया गया था. रिपोर्ट से मिली जानकारी के अनुसार यह कार 500 किलोग्राम तक के वजन को उठाने की क्षमता ०ख़ःटा है. इस कार की सबसे ख़ास बात यह है कि यह कार उड़ान के दौरान जीरो कार्बन प्रोड्यूस करता हैं, यानी की जब यह कार आसमान में उड़ान भरेगी तो इससे हमारे वातावरण को भी किसी प्रकार का हानि नही होगा. साथ ही इस कार में मेडिकल से जुड़ी कुछ सुबिधायें भी दी गयी है, जिसके बाद यह कहा जा रहा है कि इस कार से यात्रा करने वाले यात्रियों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होगी.आपकी जानकारी के लिए बता दे कि जब किसी कार की परिक्षण की जाती है और वह परिक्षण सफल होता है तो, उस कार को सर्विस में लाने में काफी लम्बा समय लग सकता है. वहीं इस कार के सफल परिक्षण के बाद दुसरे देश भी इस कार को मॉडिफाई करने के काम में लग गए हैं. इस कार के मार्किट में उतरने से एक बात तो साफ़ है कि इससे लोगों को कही यात्रा करने के दौरान काफी सहूलियत मिलेगी. लेकिन इस 130 किलोमीटर प्रतिघंटे से चलने वाली इस टैक्सी पर सफर करने के लिए लोगों को फिलहाल कुछ सालों तक इंतजार करना होगा क्योंकि इसे मार्किट में उतारने में थोडा लम्बा समय लग सकता हैं. इसका मतलब ये भी है कि आने वाले समय में लोगों को ट्रैफिक की समस्या से निजात मिलेगी.

Leave a Comment