Placeholder canvas

iphone रखना स्टेटस सिंबल ही नहीं है, यह लोगों की जान भी बचाता है

Bihari News

जब हमारे आपके जीवन में पहली बार कम्प्यूटर का आगमन हो रहा था तो उस समय यह कहा जा रहा था कि यह कम्प्यूटर एक साथ कई लोगों का काम कर देगा. इसके आने से देश में कई तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ेगा. लेकिन इसी कम्प्यूटर के माध्यम से कई चीजें ऐसी भी थी जो लोगों के लिए बहुत ही ज्यादा आसान होती जा रही थी. और आने वाले समय में यह काफी कारगर साबित हुई. इसी तरह से जब मोबाईल का आगमन हुआ तो लगने लगा कि अब तो नई पिढ़ी पूरी तरह से खराब हो जाएगी. लेकिन क्या देश में मोबाइल बिकना कम हुआ अब तो स्थिति यह है कि लोगों के हाथ में एक छोड़ दो दो फोन आ गए हैं, ऐसे में यह कहना कि मोबाइल आने से युवा पिढ़ी पर इसका गलत असर हुआ है यह हमारी और आपकी समझदारी को दिखाता है. खैर मोबाइल की ही जब बात चल रही है तो आज हम आपको एक ऐसे फीचर्स के बारे में बताने वाले हैं जोकि लोगों की जान को भी बचाता है. आपको विश्वास नहीं हो रहा है तो आप इस वीडियो के अंत तक बने रहिए… आपको देखकर लगेगा कि सच में ऐसा भी होता है…

दरअसल एक घटना का जिक्र किया जा रहा है जिसमें यह बताया जा रहा है कि एक कपल पहाड़ से 300 फीट नीचे गिरने के बाद भी जिंदा बच गया और बताया जा रहा है कि इस व्यक्ति की जान बच गई वह भी मोबाईल के कारण. यह सबकुछ हो पाया है एप्पल मोबाइल के एक फीचर के कारण. बता दें कि एप्पल फोन 14 में इस तरह का फिचर्स है जोकि जीवन को बचाने में कारगर है. मॉन्ट्रोस रिसर्च एंड रेस्क्यू टीम ने ट्वीट करते हुए इस घटना के बारे में जानकारी दिया है. जिसमें उन्होंने बताया है कि अमेरिका के कैलिफोर्निया में एंजिल्स कॉरेस्ट हाईवे से पति-पत्नि कार से जा रहे थे और उनकी कार पहाड़ से 300 फीट नीचे जा गिरी. हालांकि नीचे गिरने के बाद भी उनका जीवन बचा हुआ था ऐसे में उनके सामने सबसे बड़ी समस्या यह थी कि आखिर अपनी जान बचाने के लिए वे लोगों को बुलाएं तो बुलाएं कैसे. उनके फोन में नेवर्टक नहीं था. सबसे बड़ी समस्या यही थी. हालांकि उनके पास आई फोन 14 था जिससे वे मदद के लिए किसी को बुला सकते थे.

file

जिसके बाद पति पत्नी ने अपने फोन से क्रैश डिटेक्शन फीचर की मदद से इमरजेंसी कॉल के द्वारा मदद ली. एप्पल में मौजूद इस खास फीचर की प्रमुख बात यह है कि आप सैटेलाइट के माध्यम से फोन कर सकते हैं. यानी की अगर आपके फोन में नेटवर्क नहीं है तो आप इमरजेंसी कॉल या मैसेज करके मदद ला सकते हैं. हालांकि इसके लिए आपको एपल को चार्ज भी देना पड़ेगा. इस पूरे फीचर को लेकर एप्पल ने बताया है कि सैटेलाइट कनेक्टिविटी फीचर, आईपोन 14 यूजर्स को एक रिस्पॉन्स देने वाला सैटेलाइट से कनेक्ट करेगा और उस कनेक्शन का इस्तेमाल SOS कॉल या फिर मैसेज भेजने में किया जाएगा. आपको बता दें कि एप्पल के पास कोई अपना सेटेलाइट नहीं है वह SOS के लिए ग्लोबल स्टार से मदद लेता है. इस ग्लोबल स्टार की स्थापना साल 2001 में की गई थी.

ग्लोबल स्टार सैटेलाइट फीचर पृथ्वी के निचली कक्षा में स्थापित है. जब आप पृथ्वी से कोई भी मैसेज या कॉल सेटेलाइट को भेजेंगे तो यह कॉल सेंटर को बताएगा कि यहां से कॉल या फिर मैसेज आया है. जिसके बाद आप यहां से मदद की गुहार लगा सकते हैं. इसी इमरजेंसी फोन के लिए और SOS सुविधा के लिए एप्पल आपसे अलग से चार्ज करता है.

Leave a Comment