skip to content

जडेजा और कुलदीप की जोड़ी ने रचा इतिहास

Bihari News

रविन्द्र जडेजा और कुलदीप यादव की जोड़ी ने दुसरे वनडे में वेस्ट इंडीज के खिलाफ इतिहास रच दिया है , आपको बता दे की भारत अभी वेस्ट इंडीज दौरे पर है और टीम इंडिया को तीन वनडे मुकाबला खेलना है , पहले वनडे में कुलदीप यादव और रविन्द्र जडेजा की जोड़ी ने इतिहास रचा है और ऐसा कारनामा करने वाले यह जोड़ी विश्व क्रिकेट में अपनी छाप छोड़ दिया है , चारों ओर बस इन्ही की चर्चा हो रही है | पहला वनडे मुकाबला भारत पांच विकेट से जित गया है इस मैच में भारत ने वेस्ट इंडीज को 23 ओवेरो में 114 रनों पर पर ढेर कर दिया | वेस्ट इंडीज के तरफ से कोई भी बलेवाज बड़ी पारी नही खेल सका , वेस्ट इंडीज की तरफ से सिर्फ चार ही बल्लेवाज दहाई का आकड़ा को पार किया था वेस्ट इंडीज की तरफ से सबसे ज्यादा रन शाइ होप ने 43 रन बनाया था और किसी भी बल्लेवाज के बल्ले से ज्यादा रन नही निकले , वेस्ट इंडीज एक समय 15 . 4 ओवेरों में 88 रन पर चार विकेट खोकर बड़ी स्कोर की ओर अग्रसर था लेकिन फिर उसने नियमित अंतराल पर विकेट खोये और मगज 114 रनों के स्कोर पर ढेर हो गया | इसमें महत्व पूर्ण भूमिका कुलदीप यादव और रविन्द्र जडेजा की रही , कुलदीप यादव ने तीन ओवेरो में 6 रन देकर चार विकेट अपने नाम किये वही रविन्द्र जडेजा ने भी 6 ओवेरो में 37 रन देकर तीन विकेट चटकाए , जिससे वेस्ट इंडीज की कमर टूट गयी ,| कुलदीप यादव का वन्डे में यह दूसरा सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है , इससे पहले कुलदीप यादव ने इंग्लॅण्ड के खिलाफ 25 रन देकर 6 विकेट अपने नाम किये थे जो उनका वनडे में सर्वश्रेष्ठ है |


कुलदीप यादव और रविन्द्र जडेजा की जोड़ी ने पहले वनडे में वेस्ट इंडीज के खिलाफ 7 विकेट अपने नाम किये जो बाएँ हाथ के स्पिनरों की पहली जोड़ी बन गयी है , इस जोड़ी के इस तरह के प्रदशर्न के बाद यह वहम भी दूर हो गया की एक साथ दो बाएँ हाथ के स्पिनर नहीं खेल सकते हैं , अगर आपके पास टैलेंट है और आपके कप्तान को आपपे भरोसा है तो दोनों ही अपना काम कर सकते हैं | कुलदीप यादव टीम इंडिया के लिए इतने महत्वपूर्ण साबित हुए है इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है की कुलदीप यादव वनडे में विदेशी सरजमी पर भारत की तरफ से सर्वश्रेष्ठ स्पिनर हैं | कुलदीप यादव वनडे में सात बार चार या उससे ज्यादा विकेट लिए है इसमें एक बार वे भारत में बाकि 6 बार वे विदेशी सरजमीं पे ये कारनामा किये हैं | ऐशा कहा जाता है की भारतीय स्पिनर केवल घर के शेर हैं विदेशी जमीन पर उनका टैलेंट नहीं दिखता है | कुलदीप यादव के इस तरह के प्रदर्शन के बाद सभी आलोचकों का मुह बंद कर दिया है |

Leave a Comment