skip to content

कमिशनखोरी में दबी पाकिस्तानी टीम, पड़ रही है दोहरी मार!

shubham kumar

भारत की मेजबानी में चल रहे विश्व कप में पाकिस्तान टीम की हालत बेहद ही खराब है, बाबर आजम की कप्तानी वाली पाक टीम टूर्नामेंट में सात में से तीन मुकाबला जीतकर point table में पांचवें स्थान पर है, और पाक टीम पर अब सेमीफाइनल से बाहर होने की तलवार लटकी हुई है, पाकिस्तान टीम की टूर्नामेंट में बेहद खराब प्रदर्शन के बाद पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड पर पाकिस्तानी फैंस काफी नाराज नजर आ रहे हैं, एक ओर फैंस जहां सोशल मीडिया पर अपना गुस्सा जाहिर कर रहे हैं वहीं दूसरी तरफ पीसीबी ने पुरानी फाइलें खोलते हुए चीफ सेलेक्टर इंजमाम उल हक के खिलाफ जांच बैठा दिया है, इसके बाद इंजमाम ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है, अब इस पुरे मामले की आंच कप्तान बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान तक पहुंच सकती है.

पूरा मामला है क्या?

चलिए हम आपको बताते हैं कि पूरा मामला है क्या और क्यों इंजमाम ने वर्ल्ड के बीच में इस्तीफा दिया है, दरअसल यह मामला हितों के टकराव का बताया जा रहा है, पाकिस्तानी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इंजमाम पर आरोप है कि वो प्लेयर मैनेजमेंट कंपनी साया कॉरपोरेशन के खिलाड़ियों पर ज्यादा मेहरबान रहते हैं और पाकिस्तान टीम के सेलेक्शन के दौरान भी उस कंपनी के खिलाड़ियों को ज्यादा सपोर्ट किया करते हैं वहीं उनका शेयर भी इस कंपनी में पच्चीस प्रतिशत बताई गई है. वहीं पाकिस्तानी चैनल समा की रिपोर्ट के मुताबिक इस साया कंपनी में बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान की भी हिस्सेदारी बताई जा रही है, यह कंपनी पाकिस्तान टीम में खिलाड़ियों के खिलाने के एवज में खिलाड़ियों से तिस प्रतिशत का कमीशन लिया करती थी, इसमें इंजमाम, बाबर और रिजवान का भी हिस्सा होता है. यही वजह है की चीफ सेलेक्टर के पद पर रहे इंजमाम और कप्तान बाबर आजम के साथ रिजवान उस कंपनी के खिलाड़ियों पर सेलेक्सन के समय ज्यादा मेहरबान रहते हैं.

बाबर और रिजवान भी हैं लिप्त!

आपको बता दे की जब बाबर और रिजवान वर्ल्ड कप के बाद पाकिस्तान लौटेंगे तो उनसे भी इस पुरे मामले में और कंपनी से उनके संबंध को लेकर पूछताछ होगी, उनसे पूछा जाएगा कि सेलेक्सन में उनका क्या रोल रहा है. क्या साया कॉरपोरेशन के सीईओ टल्हा रहमानी सिर्फ उनके एजेंट हैं या उनकी भी टीम सेलेक्शन में भूमिका रहती थी. इंजमाम ने अपनी सफाई में समा न्यूज़ चैनल से बातचीत के दौरान कहा है कि साया कॉरपोरेशन नामक कंपनी से उनका जिंदगी में कभी कोई रिश्ता नहीं रहा है. जबकि इंजमाम ने पीसीबी से कहा कि वो पीसीबी को मीडिया में उठाए गए हितों के टकराव के आरोपों की पारदर्शी जांच कराने के लिए अपने पद से इस्तीफा दिया है, अगर वो दोषी नहीं पाए गए तो फिर से चीफ सेलेक्टर के तौर पर अपना पद संभाल लेंगे.

बाबर आजम की कप्तानी खतरे में!

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि बाबर आजम और मोहम्मद रिजवान से पिछले कुछ समय से पाकिस्तान क्रिक्केट बोर्ड चिढ़ा बैठा है, इसका बड़ा कारण इन दोनों का सेंट्रल कांट्रेक्ट को लेकर विरोध रहा है, इन पर आरोप है कि बाबररिजवान और एजेंट के कहने पर पीसीबी पर सेंट्रल कांट्रेक्ट को लेकर दबाव बनाया, वो चाहते हैं कि आईसीसी से मिलने वाले राजस्व में भी पीसीबी उन्हें हिस्सा दे, हालांकि पीसीबी ने उनकी यह बात मान ली थी लेकिन तभी से यह तकरार भी शुरू हो गई थी. अब पाकिस्तान जहां वर्ल्ड कप से बाहर होने के करार पर है वहीं बाबर की कप्तानी पर भी तलवार लटकी हुई है और पाकिस्तान जाने पर इस मामले में लिप्त होने पर पीसीबी इन खिलाड़ियों पर बड़ा एक्सन भी ले सकती है.

ये थे पूरा मामला इंजमाम के चीफ सेलेक्टर पद से इस्तीफा देने का, आपको क्या लगता है बाबर और रिजवान भी इस मामले में संदिग्ध पाए जाएंगे. हमें कमेंट कर जरुर बताएं. धन्यवाद.

Leave a Comment