skip to content

वर्ल्ड कप में अपने देश के लिए सबसे पहले शतक लगाने वाले बल्लेबाज

shubham kumar

क्रिकेट में किसी भी बल्लेबाज के लिए सबसे बड़ी कामयाबी शतक लगाना होता है जब कोई बल्लेबाज शतक लगाता है तब उसके पारी को बड़ी अचीवमेंट के रूप में देखा जाता है और यदि बाद विश्व कप जैसे बड़े मंच की हो तब क्या ही कहना. वनडे विश्व कप चार साल में एक बार आता है और यहां सभी देश के खिलाड़ी पूरे जीजान के साथ खेलते हैं, आपको बता दे की वर्ल्ड कप दो हजार तेइस का उनतालीसवां मैच एक ऐतिहासिक मैच के तौर पर याद रखा जायेगा, इस मैच में जहां मैक्सवेल का तूफान देखने को मिला था वहीं पहले बल्लेबाजी करते हुए अफगानिस्तान के खिलाड़ी इब्राहीम जादरान ने शतक लगाए थे, और वे विश्व कप में शतक लगाने वाले अफगानिस्तान के पहले खिलाड़ी भी बन गए हैं, इसी क्रम में आज हम बात करने वाले हैं की विश्व कप में अपने देश के लिए सबसे पहले शतक लगाने वाले खिलाड़ी के बारे में.

डेनिस एमिस (इंग्लैंड)

सबसे पहले बात करते हैं क्रिकेट के जन्मदाता इंग्लैंड की टीम के बारे में, इंग्लैंड की ओर से विश्व कप में सबसे पहले शतक डेनिस एमिस ने लगाए थे, विश्व कप के पहले संस्करण के पहले मैच में उन्होंने इस कारनामे को अंजाम दिए थे, डेनिस विश्व कप में शतक लगाने वाले पहले खिलाड़ी भी हैं, उन्नीस सौ पचहतर के विश्व कप में डेनिस एमिस ने सलामी बल्लेबाज के तौर पर भारत के खिलाफ एक सौ सैंतालिस गेंदों में एक सौ सैंतीस रन बनाए थे, इस तरह वे इंग्लैंड टीम की ओर से विश्व कप में शतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज भी बन गए. यह विश्व कप का वही मैच था, जहां भारतीय सलामी बल्लेबाज सुनील गवास्कर ने सबसे धीमी पारी खेली थी, उन्होंने इस मैच में एक सौ चौहतर गेंदों का सामना करते हुए नाबाद छतीस रन बनाए थे, इस पारी के कारण उनकी काफी आलोचना भी हुई थी.

ग्लेन टर्नर (न्यूजीलैंड)

वनडे विश्व कप में न्यूजीलैंड की तरह से पहला शतक बनाने वाले खिलाड़ी ग्लेन टर्नर हैं, उन्नीस सौ पचहतर विश्व कप में भारत जब अपना तीसरा मैच खेल रही थी तब भारत का सामना न्यूजीलैंड टीम से था, इस मैच में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए साठ ओवर में दो सौ तिस रन बनाता है, इसके जवाब में कीवी टीम यह लक्ष्य छे विकेट खोकर हासिल कर लेता है इसी मुकाबले में कीवी टीम के सलामी बल्लेबाज और कप्तान ग्लेन टर्नर ने एक सौ सतहतर गेंदों में नाबाद एक सौ चौदह रन की पारी खेले थे, और वे विश्व कप में शतक लगाने वाले पहले कीवी बल्लेबाज बन जाते हैं.

एलन टर्नर (आस्ट्रेलिया)

विश्व कप में आस्ट्रेलिया की ओर से पहला शतक लगाने वाले खिलाड़ी एलन टर्नर हैं, उन्नीस सौ पचहतर विश्व कप के सातवें मैच में आस्ट्रेलिया का सामना श्रीलंका से था, जहां आस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए तीन सौ अठाईस रन बनाता है, इसी मुकाबले में आस्ट्रेलिया की ओर से विश्व कप का पहला शतक भी लगा था, आस्ट्रेलिया के सलामी बल्लेबाज एलन टर्नर ने एक सौ तेरह गेंदों का सामना करते हुए एक सौ एक रन बनाते हैं और इस तरह वे आस्ट्रेलिया टीम की ओर से वनडे विश्व कप में शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बन जाते हैं.

क्लाइव लॅायड (वेस्टइंडीज)

वनडे विश्व कप में वेस्टइंडीज टीम कि ओर से सबसे पहले शतक बनाने वाले खिलाड़ी क्लाइव लॅायड हैं, उन्नीस सौ पचहतर विश्व कप का फाइनल मुकाबला आस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज टीम के बीच खेला गया था, जहां विंडीज टीम पहले बल्लेबाजी करते हुए दो सौ इकान्वें रन बनाती है, फाइनल मुकाबले में वेस्टइंडीज टीम के कप्तान क्लाइव लॅायड अपनी जिम्मेदारी को बखूबी निभाते हुए पचासी गेंदों में एक सौ दो रनों की पारी खेलते हैं और वे विश्व कप में वेस्टइंडीज की ओर से सबसे पहले शतक लगाने वाले खिलाड़ी बन जाते हैं.

इमरान खान (पाकिस्तान)

पाकिस्तान टीम की ओर से विश्व कप में सबसे पहला शतक इमरान खान ने बनाए थे, उन्नीस सौ तिरासी विश्व कप के पन्द्रहवां मैच पाकिस्तान और श्रीलंका टीम के बीच खेला गया था, जहां पाकिस्तान पहले बल्लेबाजी करते हुए अच्छी शुरुआत ना रहने के बावजूद दो सौ पैंतीस रन बना लेता है, इसी मुकाबले में पाकिस्तान के कप्तान इमरान खान एक सौ तेतीस गेंदों का सामना करते हुए नाबाद एक सौ दो रन बनाते हैं, वहीं इस मुकाबले में इनका बखूबी साथ निभाए थे शाहिद महबूब ने जिन्होंने एक सौ छबीस गेंदों में सतहतर रन बनाते हैं.

कपिल देव (भारत)

भारत की ओर से विश्व कप में पहले शतक लगाने वाले बल्लेबाज कपिल देव हैं, उन्नीस सौ तिरासी में खेले गए भारत बनाम जिम्बाब्बे मैच को कौन भूल सकता है, जब भारतीय कप्तान कपिल देव ने अंडर प्रेशर में रहते हुए एक सौ अड़तीस गेंदों में नाबाद एक सौ पचहतर रन की पारी खेलते हैं, कपिल देव द्वारा खेली गई यह पारी कई मायनों में अहम थी, यह विश्व कप का सबसे बड़ा व्यक्तिगत स्कोर भी था जो अगले कई वर्षो तक कायम रहा था, वहीं विश्व कप में यह पारी सबसे अंडर प्रेसर में खेली गई पारियों में से भी एक है.

गैरी क्रस्टन (साउथ अफ्रीका)

साउथ अफ्रीका की ओर से विश्व कप में सबसे पहला शतक गैरी क्रस्टन ने लगाए थे, उन्नीस सौ छेयान्वें विश्व कप के दुसरे मैच में गैरी क्रस्टन ने संयुक्त अरब अमीरात के खिलाफ शतक लगाए थे, क्रस्टन ने एक सलामी बल्लेबाज के तौर पर एक सौ उनसठ गेंदों में नाबाद एक सौ अठासी रन की पारी खेलते हैं, और वे विश्व कप में सबसे पहले शतक लगाने वाले अफ्रीकी खिलाड़ी भी बन जाते हैं.

अरबिंदा डी सिल्वा (श्रीलंका)

श्रीलंका टीम की ओर से विश्व कप में सबसे पहले शतक बनाने वाले बल्लेबाज अरबिंदा डी सिल्वा हैं, उन्नीस सौ छेयान्वें विश्व कप के अठाईसवें मैच में श्रीलंका का सामना केन्या की टीम से था, जहां श्रीलंका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए पांच विकेट के नुकसान पर तीन सौ अनठानवें रन बनाता है, इस मुकाबले में श्रीलंकाई बल्लेबाज अरबिंदा डी सिल्वा एक सौ पंद्रह गेंदों में एक सौ पैतालीस रन की पारी खेलते हैं, और वे विश्व कप में श्रीलंका की ओर से शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बन जाते हैं. आपको बता दे की इस मैच में केन्या की टीम को ओर से स्टेवे टिकोलो मात्र चार रन से शतक बनाने से चुक जाते हैं यदि वे चार रन और बना लेते तो केन्या की ओर से शतक बनाने वाले पहले खिलाड़ी बन जाते.

फेईको क्लॅापेनबर्ग और क्लैस जान वैन (नीदरलैंड)

नीदरलैंड टीम की ओर से विश्व कप में पहला शतक दो हजार तीन के विश्व कप में आया था, नीदरलैंड बनाम नामबिया मैच में नीदरलैंड टीम की ओर से दो शतक आए थे, सबसे पहले सलामी बल्लेबाज फेईको क्लॅापेनबर्ग ने शतक बनाए थे इसके बाद क्लैस जान वैन ने भी शतक बनाए थे, इस तरह ये दोनों बल्लेबाज विश्व कप में शतक बनाने वाले केन्या के पहले खिलाड़ी बन गए हैं, इस मुकाबले में फेईको क्लॅापेनबर्ग चार विकेट भी लेते हैं.

मोहम्मद महमूदुल्लाह (मोहम्मद महमूदुल्लाह)

विश्व कप में बांग्लादेश की ओर से सबसे पहले शतक मोहम्मद महमूदुल्लाह ने बनाए थे, इन्होंने दो हजार पंद्रह के विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ शतक बनाए थे.

आपको क्या लगता है विश्व कप दो हजार तेइस में कौन सा बल्लेबाज सबसे ज्यादा शतक लगाएगा. हमें कमेंट कर जरुर बताएं. धन्यवाद.

Leave a Comment