skip to content

लर्निंग DL का ऑनलाइन टेस्ट देने से पहले करना होगा यह काम

Bihari News

बिहार में बढती सड़क दुर्घटना के मामले किसी से छिपे नहीं हैं. रिपोर्ट के अनुसार सड़क दुर्घटना के मामले में बिहार देश के टॉप 10 राज्यों में शुमार है. और दुर्घटना में सबसे अधिक मरने वालों की संख्या भी यहीं की है. आंकड़ों पर नजर डाले तो बिहार में सड़क दुर्घटना होने की दर में बढ़ोतरी हुई है हालिया रिपोर्ट यह बताती है कि बिहार में सड़क दुर्घटना अब 3.3 प्रतिशत से बढ़कर 3.5 प्रतिशत हो गयी है. ऐसे में सवाल यह उठता है कि इसका जिम्मेवार कौन है? सड़क दुर्घटना की सबसे बड़ी वजह ओवर स्पीड मानी जाती है. क्या यह दुर्घटना के आंकड़े बढ़ाने का अकेला जिम्मेवार है तो जवाब मिलेगा नहीं? क्या आपने कभी यहाँ गौर किया है कि राज्य में धड़ल्ले से ड्राइविंग लाइसेन्स मुहैया कराया जा रहा है. बिना यह जाने की वह व्यक्ति ड्राइविंग में कैसा है? ये काम बिचौलियों द्वारा बिहार में खूब किया जाता है. जो की सड़क दुर्घटना का कारण बनती है. जानकारी के मुताबिक राज्य के ऐसे कई जिलें हैं जहाँ एक भी चालक को ड्राइविंग टेस्ट में फेल नहीं किया जाता है. हालाँकि इन आंकड़ों को देखकर अब परिवहन विभाग भी सचेत हो गयी है. और ठोस से ठोस कदम उठा रही है.

दरअसल लर्निंग ड्राइविंग लाइसेन्स के लिए अगर आप अप्लाई करते हैं तो उन्हें ऑनलाइन टेस्ट देने से पहले एक सात मिनट का विडियो देखना अनिवार्य कर दिया गया है. यह वीडियो देखे बिना आप ऑनलाइन टेस्ट में पास नहीं कर सकते हैं. जी हाँ परिवहन विभाग ने बढ़ते सड़क दुर्घटना को देखते हुए यह एक ठोस कदम उठाया है. बताया गया है कि वाहन चालकों को लर्निंग ड्राइविंग लाइसेन्स के लिए ऑनलाइन टेस्ट देने से पहले सात मिनट का विडियो देखना अनिवार्य कर दिया है. उस वीडियो में आपकी और सड़क पर चलने वाले वाहनों और पैदल यात्रियों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से बेहद अहम है. इस वीडियो में गाड़ी चलाते समय चालक के लिए जिन बातों का ध्यान रखना है, उसकी जानकारी दी गई है. वीडियो में हेलमेट पहनने, ओवर स्पीड नहीं चलने, ओवरटेक नहीं करने, गाड़ी चलाते समय फोन पर बात नहीं करने, अपने लेन में चलने, इमरजेंसी वाहन को रास्ता देने, रेड लाइट जंप नहीं करने, सड़क दुर्घटना में घायलों की मदद करने आदि के बारे में बताया गया है.

दरअसल जब आप ड्राइविंग लाइसेन्स के लिए ऑनलाइन टेस्ट देने से पहले आपको लाइसेन्स के लिए चालान कटवाना होता है इसके बाद ऑनलाइन टेस्ट देने के लिए स्लॉट बुक करने से पहले आपको यह विडियो देखना होगा. बिना इसे देखे आप ऑनलाइन टेस्ट नहीं दे पायेंगे. स्लॉट बुक करने के दौरान इस वीडियो का एक कोड आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर भेजा जाएगा. जिसके माध्यम से आपको यह विडियो पूरा देखना ही होगा. अगर आपने इसे बीच में बंद करने की होशियारी की और बिना विडियो देखे आप कार्यालय में बुकिंग के लिए जाते हैं तो वहां सिस्टम यह बता देगा कि आपने वह वीडियो पूरा नहीं देखा है. इसके पीछे परिवहन विभाग का मकसद है कि लोग सुरक्षित गाडी चलाएं खुद भी सुरक्षित रहें और उनके आस पास के लोगो को भी उनसे खतरा ना हो.

सड़क दुर्घटना का सबसे बड़ा जिम्मेवार आप किसे मानते हैं ?

Leave a Comment