skip to content

दोहरा शतक ठोककर पृथ्वी शॉ ने चयनकर्ताओं को दिलाई अपनी याद

Bihari News

भारत को 2018 में अंडर-19 वर्ल्ड कप जितवाने वाले कप्तान पृथ्वी शॉ काफी लंबे समय से टीम इंडिया से बाहर हैं. वो भारत के लिए अभी तक सिर्फ 5 टेस्ट, 6 वनडे और 1 टेस्ट मैच ही खेल पाए हैं. लेकिन इस दौरान पृथ्वी शॉ ने घरेलु क्रिकेट और आईपीएल में खूब धूम मचाया है. इसमें तो कोई शक नहीं है कि पृथ्वी शॉ एक प्रतिभावान बल्लेबाज हैं लेकिन पिछले कुछ समय से उनको राष्ट्रीय चयनकर्ता नजरंदाज ही कर रहे हैं. अभी हाल ही में शॉ ने जबरदस्त बल्लेबाजी से चयनकर्ताओं को अपनी याद दिला दी है. जी हां, रणजी ट्रॉफी में मुंबई की तरफ से खेलते हुए असम के खिलाफ पृथ्वी शॉ ने दोहरा शतक ठोक दिया. शॉ ने 235 गेंदों में अपना दोहरा शतक पूरा किया जबकि सैकड़े के लिए उन्होंने 98 गेंद ही लिए. यह उनके फर्स्ट क्लास करियर का दूसरा दोहरा शतक है.

पृथ्वी शॉ को टीम इंडिया में जगह क्यों नहीं मिल रही, इसका जवाब तो किसी के पास नहीं है लेकिन जिस तरह का प्रदर्शन वो घरेलु क्रिकेट में कर रहे हैं, उससे शायद चयनकर्ताओं का दिल पिघल जाए. वो जुलाई, 2021 के बाद से अभी तक कोई भी इंटरनेशनल मैच नहीं खेला है. 5 टेस्ट की 9 पारियों में पृथ्वी शॉ ने 42.38 की औसत और 84.04 की स्ट्राइक रेट से 339 रन बनाए हैं. शॉ के नाम एक शतक और 2 अर्धशतक भी दर्ज हैं.

असम बनाम मुंबई रणजी मैच की बात करें तो असम ने टॉस जीतकर मुंबई को बल्लेबाजी का न्योता दिया था. पहले दिन का खेल समाप्त होने तक मुंबई की टीम ने 2 विकेट के नुकसान पर 397 रन बना लिए थे. पृथ्वी शॉ 240 रन और कप्तान अजिंक्य रहाणे 73 रन बनाकर क्रीज पर मौजूद हैं. असम की तरफ से मुख़्तार हुसैन को 1 विकेट मिला.

Leave a Comment